Engineering Entrance Examination Date - 31.07.2019 Apply for BCA, BBA, B.Com 100% Free Education by Bihar Student Credit Card Scheme RESULT OF ENGINEERING 2018 (Rank Wise) Engineering Admission 2019-20 is going on

 

बीआईटी गया के बारे में

“बुद्धा इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी ”  एक इंजीनियरिंग संस्थान है  जिसे वर्ष 2008 में   इंडस्ट्रियल एरिया , गया बोधगया रोड पर  स्थापित किया गया है । यह  संस्थान ” बीआईटी ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशंस  ” का हिस्सा है जिसे   इसके संस्थापक और  अध्यक्ष  और एक प्रसिद्ध  समाज सेवी इंजिनियर अवधेश कुमार  द्वारा स्थापित किया गया था । यह एक नवजात संस्थान है जो डिग्री स्तर की  तकनीकी शिक्षा प्रदान करता है और अनुभवी शिक्षाविदों और अत्यधिक कुशल पेशेवरों के मार्गदर्शन में एक मॉडल संस्थान बनने की आकांक्षा विकसित करता  है । यह संस्थान आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय(आर्यभट्ट नॉलेज यूनिवर्सिटी) , पटना, बिहार द्वारा  संबद्ध किया जा चूका है  और बाद में आल इंडिया काउंसिल ऑफ़ टेक्निकल एजुकेशन(AICTE)  द्वारा अनुमोदित हुआ है ।

बुद्धा इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, गया “ओम समाज विकास परिषद ”  के पेशेवरों और प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ताओं के एक समूह द्वारा पदोन्नत किया गया है जिसका उद्देश्य तकनीकी शिक्षा के माध्यम से एक उत्कृष्ट स्तर के टेक्नोक्रेट का मार्गदर्शन करना है ।

हमारा उद्देश्य इंजीनियरिंग और तकनिकी शिक्षा के क्षेत्र में युवा मन को एकीकृत और श्रेष्ठ शिक्षा प्रदान करने के लिए उन्हें क्रियाशील टेक्नोक्रेट में परिवर्तित करने के लिए है और उन्हें प्रतिस्पर्धी दुनिया में कठिन चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए और भी एक सम्मानजनक इंसान के रूप में परिवर्तित करना है ।

बुद्धा इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी पांच विषयों में बैचलर ऑफ टैक्नोलॉजी (B.Tech) की डिग्री प्रदान करता है –  सिविल इंजीनियरिंग , इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग , मैकेनिकल इंजीनियरिंग , कंप्यूटर  साइंस एंड इंजीनियरिंग एवं इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग ।

हमारा लक्ष्य

• बहुमुखी विकास के लिए अनुभवी शिक्षा प्रदान करना ।

• पेशेवर शैक्षिक नेताओं को तैयार करने के लिए उनका मानक तय करना ।

• प्रौद्योगिकी शिक्षा के क्षेत्र में अभिनवपूर्ण और रचनात्मक एकीकरण को बढ़ावा देना ।

• अनुसंधान एवं विकास के सोच की भावना को उत्तपन करना और बढ़ावा देना ।

• शहरीय और साथ ही साथ ग्रामीण क्षेत्र में परामर्श कार्यक्रमों के माध्यम से शिक्षा प्रदान करना ।